ई-पेपर English IPL 2022 राशिफल दुनिया देश राज्य शहर राजनीति खेल मनोरंंजन व्यापार टेक्नोलॉजी शिक्षा जुर्म जीवन शैली धर्म करंट अफेयर्स अजब गजब यात्रा
476
0

देवास: निवेश के लिए मध्‍यप्रदेश से बेहतर कोई नहीं - मुख्‍यमंत्री

डिजिटल डेस्क, देवास। देवास प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बुधवार को देवास के औद्योगिक क्षेत्र में बेयरलॉकर इंडस्ट्रीज के नए पॉलीमर एडिटिव प्लांट के शिलालेख का अनावरण किया गया। इस दौरान उद्योग मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, बेयर लॉकर इंडस्ट्रीज के एमडी श्री जयेन मोदी, विधायक देवास श्रीमती गायत्री राजे पवार, हाटपिपलिया विधायक श्री मनोज चौधरी, खातेगांव विधायक श्री आशीष शर्मा, बागली विधायक श्री पहाड़ सिंह कन्‍नौजे, श्री राजीव खंडेलवाल, कलेक्टर देवास श्री चंद्रमौली शुक्ला, पुलिस अधीक्षक डॉ. शिव दयाल सिंह, एमपीआईडीसी के श्री रोहन सक्‍सेना एवं अन्‍य अधिकारीगण तथा गणमान्य नागरिक मौजूद थे। कार्यक्रम में श्री जयेन मोदी द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान को तुलसी को पौधा भेंट किया गया। साथ ही उनके द्वारा स्वागत भाषण दिया गया।

मुख्‍यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में कहा कि बुधवार को देवास में उनके द्वारा देवास के विकास का पूरा रोड़ मेप डिस्‍क्‍स किया गया। आने वाले समय में शीघ्र ही देवास देश के सबसे स्‍वच्‍छ और सुव्‍यवस्थित शहरों में शामिल होगा। यहां औद्योगिक विकास के लिए बहुत सम्‍भावनाएं है। आत्‍म निर्भर मध्‍यप्रदेश निर्माण के लिए गुड गर्वनेंश और सुशासन की जरूरत है। मुख्‍यमंत्री ने कार्यक्रम में मौजूद उद्योगपतियों से कहा कि यदी उन्‍हें नये उद्योग स्‍थापित करने है तो शासन द्वारा शीघ्र अतिशीघ्र सरलता से क्लियरेंस दिये जाने के प्रयास किये जायेंगे। आप लोगों को अनावश्‍यक कार्यालयों के चक्‍कर नहीं लगाने पडेंगे। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि देवास में लैंड पूलिंग के माध्‍यम से उद्योग स्‍थापित किये जायेंगे। उद्योग हेतु प्‍लाट उपलब्‍ध करायें जायेगे। मुख्‍यमंत्री ने बेयरलॉकर के नवीन प्‍लांट के बारे में कहा कि उद्योग द्वारा प्‍लांट का विस्‍तारिकरण किया जा रहा है। यह बडे हर्ष की बात है। यह प्‍लांट पर्यावरण हितै‍षी है। यहां लगभग 350 करोड़ का निवेश किया जायेगा। इसका हम स्‍वागत करते हैं। मध्‍यप्रदेश सरकार निवेश हितैषी सरकार है। निवेश के लिए मध्‍यप्रदेश से बेहतर कोई नहीं है। देवास में आने वाले सालों में लगभग 30 हजार लोगों को रोजगार के अवसर प्रदाय किये जायेंगे। मुख्‍यमंत्री ने मंच से उद्योगपतियों से आव्‍हान किया कि वे आयें और मध्‍यप्रदेश में निवेश करें।

उद्योग मंत्री श्री सिंह ने कार्यक्रम में बेयरलॉकर इण्‍डस्‍ट्री के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री श्री चौहान द्वारा आत्‍म नि‍र्भर मध्‍यप्रदेश बनाये जाने के लिए निरन्‍त प्रयास किये जा रहे है। उनके ने‍तृत्‍व में निश्चित रूप से प्रदेश का कायाकल्‍प होगा। कार्यक्रम में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से बेयरलॉकर इंडस्ट्रीज के नए पॉलीमर एडिटिव प्लांट के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बताया गया कि बेयरलॉकर इंडस्ट्रीज द्वारा विश्व के 15 देशों में प्लास्टिक एडिटिव्स की निर्माण प्रक्रिया की जा रही है। एडिटिव्स प्लास्टिक को उपयोगी बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, और प्लास्टिक को पर्यावरणीय रूप से टिकाऊ बनाने का प्रयास संपूर्ण विश्व कर रहा है। बेयर लॉकर द्वारा देवास स्थित प्लांट को साल 1999 में प्रारम्‍भ किया गया था। इस बेयर लॉकर प्लांट की 20 वर्ष की यात्रा में न केवल एक लघु इकाई वाले संस्थान को एक मध्यम वर्ग की इकाई में बदल दिया गया, बल्कि प्लास्टिक एडिटिव्स के भारत के बाजार में स्वयं को एक लीडर के रूप में स्थापित किया गया है। इसके पास सभी पीवीसी और सीपीवीसी के विविध उत्पादों में काम में आने वाली प्लास्टिक एडिटिव की एक विशाल श्रेणी उपलब्ध है। बेयरलॉकर द्वारा कई प्रकार के इंटरमीडिएट्स, लेड आधारित एवं कैल्शियम आधारित ठोस वन पैक पीवीसी स्टेबलाइजर तथा विस्तृत श्रृंखला में लिक्विड उत्पाद बनाए जा रहे हैं । उल्लेखनीय है कि बेयरलॉकर इंडस्ट्रीज के उक्त नए प्लांट का निर्माण आगामी डेढ़ वर्ष में संपूर्ण हो जाएगा। इसमें कैल्शियम आधारित स्टेबलाइजर और स्टीयरेट के विश्व स्तरीय निर्माण की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। कार्यक्रम का संचालन श्री मोहन वर्मा ने किया। कार्यक्रम के अंत में बेयर लॉकर इंडस्ट्रीज द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए गए। आभार प्रदर्शन प्‍लांट के हेड श्री कुमावत द्वारा किया गया।

Next Story

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अनिल भसीन ने अपनी नई किताब "रीसेट योर लाइफ" के लॉन्च के माध्यम से एक सरल रूपरेखा को शेयर  किया है

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। हम सभी ने अपने जीवन के किसी न किसी अवस्था में असफलताओं का सामना किया ही होगा क्योंकि यह हम सबके लिए  एक आम बात जैसीही होती है। ऐसे समय में, हर कोई व्यक्तिसफलता प्राप्त करने की ख्वाहिश  का बेसब्री से इंतजार करता ही है। हालांकि,इसके लिए आपने अपने दृष्टिकोण को बदलने, शुभचिंतकों और सलाहकारों से राय लेने या सलाह लेने के अनेक प्रयास किए होंगे, लेकिन इन सबके अलावा एक और चीज भी हो सकती है जो आपकी विचार प्रक्रिया और जीवन-धारा के रुख को बदलने में मदद कर सकती है। और वो चीज़ है - प्रेरक पुस्तकों को अपना जीवन संबल बनाना।

अनिल भसीन एक प्रसिद्ध मोटिवेशनल स्पीकर होने के साथ एक प्रसिद्ध लेखक भी हैं और उनकी लिखी पुस्तक - *अपने जीवन को रीसेट करें- सफलता प्राप्त करने की सरल रूपरेखा”, एक ऐसी पुस्तक है जो आपको सफलता की सीढ़ी को चढ़ने का एक अमूल्य संदेश दे सकती है।

स्वयं को'रीसेट योर लाइफ' से प्रेरित करें

जीवन में कभी-कभी ऐसा भी होता है जब आप अपनी असफलताओं से भरे समय से खुद को बाहर निकालने और अपनी जिंदगी को फिर से शुरू करने में स्वयं को सक्षम नहीं पाते हैं। तब उस समय व्यक्ति को अपने जीवन को पटरी पर लाने के लिए एक मजबूत प्रोत्साहककी ज़रूरत महसूस होती है। *'रीसेट योर लाइफ'*आपके जीवन को मजबूती देने वाली वह बाहरी ताकत है जो आपको आगे बढ़ने के लिए कमर कसने के लिए प्रेरित कर सकती है। तो क्यों न आप  अपने जीवन में खुशनुमा परिवर्तन लाने के लिए एक बार इस पुस्तक को हाथ में लेकर देखें!

अनिल भसीन ने अपनी विकास यात्रा में निजी और पेशेवर जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक रूप से अनुभव किए गए तजुर्बों को इस पुस्तक में समेटने का अथक प्रयास किया है।रोजगार ढूँढने वाले एक सामान्य युवक अनिल से लेकर 1.3 बिलियन डॉलर की कंपनी हैवेल्स के अध्यक्ष अनिल भसीन बनने तक की विकास यात्रा में पाठक उस सूत्र को देख सकते हैं जिसके माध्यम से वो एक अनुभवी और सफल व्यक्तित्व के रूप में उभर कर आते हैं। सुनिश्चित सफलता प्राप्त करने के लिए बनाई गई यह रूपरेखा असंदिग्ध रूप से ही आपके जीवन को फिर से व्यवस्थित करते हुए आपको सफलता की ओर ले जासकती है।

अनिल के उत्थान और व्यावहारिक दृष्टिकोण को उनकी पुस्तक में कोडित एम-सी-ए सूत्र में देखा जा सकता है। उनके जीवन की कहानियां पाठकों को इस सूत्र और उसकी उपयोगिता को समझने में मदद करती हैं।

सफलता के लिए एमसीए फॉर्मूला
अनिल भसीन द्वारा लिखी गई इस प्रेरक पुस्तक के शब्दों और पंक्तियों के ताने-बाने में, आप सफलता के लिए लेखक के एम-सी-ए फॉर्मूले को बहुत आसानी से देख सकते हैं: 

●    अपनी मानसिकता को रीसेट करें
●    अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए स्पष्ट रहें 
●    अपने लक्ष्यों प्राप्त करने के लिए ठोस कार्य करें 

इसके साथ ही अनिल भसीन का यह भी दृढ़ विश्वास है कि हर किसी को निश्चित रूप से अपनी असफलताओं से बाहर निकलने और अपने जीवन का 'रीसेट' बटन दबाने का मौका मिलता है। दरअसल,यह अनूठा सूत्र तीन गुना स्तर पर काम करता है और जो भी आप अपनी जिंदगी में प्राप्त करना चाहते हैं उसे प्राप्त करने का आश्वासन भी देता है। इसके बाद , आप अपनी सफलता की यात्रा को शुरू कर सकते हैं।
इस किताब के हर पेज और हर शब्द के बीच में कहीं न कहीं आपको वह मिल जायेगा जो आपके जीवन में सफल होने के लिए नितांत आवश्यक हो सकता है।और इसके साथ ही जीवन की चुनौतियों और असफलताओं को दूर करने के लिए इच्छित  समाधान की आपकी तलाश अनिल भसीन की 'रीसेट योर लाइफ' के साथ समाप्त हो जाती है। आपकी कोई भी स्थिति हो, इसके बावजूद, आप निश्चय ही सफलता का पुरस्कार प्राप्त करते हुए जीवन की महान ऊंचाइयों तक सरलता से पहुंच सकते हैं।
 

Next Story

जीवन के हर पड़ाव पर जरूरी है टर्म इन्श्योरेन्स। जानिए कैसे

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। टर्म इंश्योरेंस, लाइफ इंश्योरेंस का सबसे किफायती प्रकार है। यदि बीमित व्यक्ति की दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाती है, तो टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान में उल्लिखित नॉमिनी व्यक्ति को लाइफ इंश्योरेंस के रूप में वित्तीय सुरक्षा प्रदान की जाती है। इस वित्तीय सुरक्षा के बदले में, पॉलिसीधारक को लाइफ इंश्योरेंस प्रदाता कंपनी को प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है। प्रीमियम की गणना के लिए आप टर्म इंश्योरेंस कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं। टर्म प्लान एक शुद्धलाइफ कवर है, इसलिए, यदि बीमित व्यक्ति पॉलिसी अवधि के समापन तक जीवित रहता है, तो उसे नियमित टर्म प्लान के मामले में कोई रिटर्न नहीं मिलेगा। 

आइये इस ऑर्टिकल में टर्म इंश्योरेंस क्यों जरुरी है, इस बारे में जानते हैं-

आपको टर्म इंश्योरेंस की आवश्यकता क्यों है?

चाहे आप जीवन के किसी भी पड़ाव पर हों, टर्म लाइफ इन्श्योरेन्स आपके काम जरूर आ सकता है। यदि आप एक युवा हैं, तो आप कम प्रीमियम दरों पर एक अधिक कवर का टर्म इन्श्योरेन्स ले सकते हैं। इस समय आपके ऊपर ज़िम्मेदारियाँ उतनी नहीं होती, पर उम्र के साथ इनमें बढ़ोतरी होती है। टर्म इन्श्योरेन्स की मदद से आप अपनी शादी के बाद अपने जीवन साथी को, माता-पिता को, तथा कुछ वर्षों बाद अपने बच्चों को  वित्तीय सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं। आगे चलकर जब आप अपना घर लेंगे, गाड़ी लेंगे, तथा कोई अन्य ऋण अपने सर लेंगे, तो उसे चुकाने का भार भी आप अपनों के सर से टाल सकते हैं, एक टर्म इन्श्योरेन्स प्लान की मदद से। अंत में, सेवानिवृति के उपरांत भी यदि कोई आप पर आर्थिक रूप से निर्भर हो, तो उनके लिए भी एक टर्म प्लान ले सकते हैं। 

ध्यान रखें की उम्र के साथ साथ प्रीमियम दरों में भी बढ़ोतरी होती है, तो जितनी जल्दी हो सके, टर्म इन्श्योरेन्स में निवेश जरूर करें। यहां कुछ सामान्य कारण बताए जा रहे हैं, जिससे यह पता चलता है कि टर्म इंश्योरेंस के क्या फायदे हैं:
●    टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्रियजनों की रक्षा करता है
●    टर्म लाइफ इंश्योरेंस पॉकेट फ्रेंडली है
●    टर्म लाइफ इंश्योरेंस आपके परिवार की ऋण के बोझ से बचाता है 
●    यह ऐड-ऑन राइडर्स के साथ आता है
●    यह आय कर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के मुताबिक टैक्स बचाने में मदद करता है 

अपने लिए उपयुक्त टर्म इंश्योरेंस प्लान कैसे चुनें

अपने लिए उपयुक्त टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान चुनने के लिए टर्म इंश्योरेंस कैलकुलेटरआपकी मदद कर सकता है। आपको अपनी ज़रूरतों के लिए सही टर्म इंश्योरेंस प्लान चुनने में जिन  मापदंडों को ध्यान में रखना होता है, वे निम्न हैं-

●    कवरेज की राशि: आप सुनिश्चित करें कि कवरेज की राशि आपके परिवार की दैनिक जरूरतों, उनके जीवन लक्ष्यों की लागत और आपके नाम पर किसी भी बकाया ऋण को कवर करने के लिए पर्याप्त है।

●    पॉलिसी टर्म: टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान में एक पॉलिसी अवधि होनी चाहिए जो आपकी कमाई के वर्षों, आपके सबसे लंबे जीवन लक्ष्य और आपके सबसे लंबे कर्ज को कवर करने के लिए पर्याप्त हो। 

●    कवरेज की लागत: यदि आप एक टर्म लाइफ इन्शुरन्स प्लान खरीदते हैं जो आपके बजट से बाहर है, तो आपको प्रीमियम को बनाए रखना मुश्किल हो सकता है। यह, बदले में, नीति को समाप्त करने का कारण बन सकता है। तब आप अपने टर्म प्लान द्वारा दिए गए सभी लाभों को खो देंगे। इसलिए एक टर्म प्लान चुनना महत्वपूर्ण है जिसे आप खरीद सकते हैं।

●    ऐड-ऑन राइडर्स का चयन करें: ऐड-ऑन राइडर्स अतिरिक्त वैकल्पिक कवर हैं जिन्हें आप अतिरिक्त प्रीमियम के लिए बेस कवर के साथ खरीद सकते हैं। ये राइडर्स विशिष्ट घटनाओं के लिए वित्तीय कवरेज प्रदान करते हैं। कुछ सामान्य राइडर्स में क्रिटिकल इलनेस राइडर, एक्सीडेंटल पर्मानेंट पार्शल/टोटल डिसेबिलिटी राइडर, प्रीमियम वेवर राइडर, आदि शामिल हैं। तय करें कि आपको इनमें से कोई चाहिए या नहीं और अपनी योजना खरीदते समय ही उन्हें खरीद लें।

●    क्लेम सेटलमेंट रेशीयो सही होना चाहिए: उपयुक्त टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान आपके नॉमिनी व्यक्तियों को विश्वसनीय सुरक्षा प्रदान करती है। यह सुनिश्चित करने के लिए आपको सही क्लेम सेटलमेंट रेशीयो वाली कंपनी से टर्म इंश्योरेंस कवर लेना चाहिए। प्रतिशत जितना अधिक होगा, आपके नॉमिनी के वास्तविक क्लेम का तुरंत सेटलमेंट होने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

तो इस प्रकार आप एक सही टर्म लाइफ इन्श्योरेन्स प्लान का चयन कर जीवन के किसी भी पड़ाव में अपने परिवार और प्रियजनों को वित्तीय सुरक्षा का तोहफा दे सकते हैं। कम से कम उम्र में खरीदने पर आपको सबसे अधिक लाभ प्राप्त होंगे, हालांकि आम तौर पर यह योजनाएँ जीवन के हर चरण में किफायती ही होती हैं। 
 

Next Story

पड़ोसी राज्य अपनाएंगे छत्तीसगढ़ का नक्सल उन्मूलन माडल

डिजिटल डेस्क, रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले चार वर्षों में नक्सली घटनाओं में कमी आई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, नक्सलियों का जमावड़ा सुकमा, बीजापुर और दंतेवाड़ा जिले के कुछ इलाकों तक सिमट गया है। ओडिशा और तेलंगाना सीमा पर नक्सलियों को रोकने में फोर्स सफल हुई है।

एक दिन पहले ही पूर्वी क्षेत्रीय समन्वय समिति की बैठक में छत्तीसगढ़ माडल पर आगे बढ़ने की रणनीति पर विचार किया गया। छत्तीसगढ़ में फोर्स ने पहले धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस कैंप खोले, फिर विकास के लिए अंदरूनी इलाकों में सड़क का निर्माण किया। अब कैंप में राशन दुकान, एटीएम सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। तेलंगाना, ओडिशा और झारखंड अब इसी माडल पर आगे बढ़ेंगे।

एंटी नक्सल आपरेशन के आला अधिकारियों ने बताया कि पड़ोसी राज्य भी अंदरूनी इलाकों में कैंप खोलकर विकास को पहुंचाने की तैयारी में हैं। प्रदेश में पिछले चार वर्षों में सबसे ज्यादा कैंप खोले गए। इससे नक्सली वारदातो में कमी आई है। इसके साथ ही ग्रामीण इलाकों में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के माध्यम से सड़क का निर्माण किया जा रहा है। मोबाइल टावर भी लगाए जा रहे हैं। इससे कनेक्टिविटी बेहतर हो रही है।

मोबाइल फोन गांव तक पहुंचने के बाद पुलिस के पास खुफिया सूचना आसानी से पहुंच रही है। इससे नक्सलियों के जमावड़े पर पूरी योजना बनाकर कार्रवाई की जा रही है। सरकार की योजनाओं के पहुंचने के कारण आदिवासियों में भरोसा जगा है, जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्र में नक्सलियों की पैठ कमजोर हुई है।
 

Next Story

आर एन टी यू में आयोजित दो दिवसीय प्रतियोगिताओं में पुरस्कृत हुईं शहर की युवा प्रतिभाएं

डिजिटल डेस्क, भोपाल। राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा आयोजित दो दिवसीय प्रतियोगिताओं का रंगारंग समापन हुआ। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ विजय सिंह के मार्गदर्शन में पहले दिन संस्था स्तर पर नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन "शास्त्रीय, देशभक्ति एवं लोकनृत्यों की प्रस्तुति" की थीम पर किया गया।  जिसमें गुजरात के गरबा ने जहां नवरात्रों की याद दिलाई तो वहीं राजस्थान के कालबेलिया नृत्य ने राजस्थानी संस्कृति की छटा बिखेरी। बिहार की छठ पूजा के साथ ही भरतनाट्यम, कत्थक जैसे नृत्यों की प्रस्तुति भी एन एस एस के स्वयंसेवकों ने दी। संस्था स्तरीय नृत्य प्रतियोगिता में बतौर मुख्य अतिथि डॉ आर एस नरवरिया, जिला संगठक, राष्ट्रीय सेवा योजना तथा डॉ सुधीर कुमार शर्मा, अतिरिक्त जिला संगठक एवं सुश्री दुर्गा मिश्रा, निदेशक, वर्तिका कल्चरल एंड सोशल वेलफेयर सोसाइटी, भोपाल विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे। सुश्री दुर्गा मिश्रा ने नृत्य का मनुष्य जीवन में महत्व एवं स्वस्थ जीवन की उपलब्धि में उसका योगदान विषय पर भी युवाओं को संबोधित किया। वहीं डॉ सुधीर कुमार शर्मा ने व्यक्तित्व विकास में सांस्कृतिक मूल्यों के योगदान पर तथा श्री नरवरिया ने राष्ट्रीय सेवा योजना की बारीकियों पर युवाओं को संबोधित किया।

वहीं दूसरे दिन अंतर जिला स्तरीय भाषण, पोस्टर मेकिंग एवं नारा लेखन प्रतियोगिता का शुभारंभ रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति तथा डॉ. सीवी रामन विश्वविद्यालय बिहार के वर्तमान कुलाधिपति माननीय वी.के. वर्मा ने दीप प्रज्वलन कर किया। प्रतियोगिताओं में रायसेन एवं भोपाल जिले के लगभग 15 कॉलेज के एन एस एस स्वयंसेवकों ने सहभागिता की। भाषण प्रतियोगिता "वर्तमान समय में समाज सेवा की आवश्यकता एवं उसमें युवाओं की भूमिका" विषय पर आयोजित की गई। जिसमें लगभग 30 प्रतिभागियों ने अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया। अपने ओजस्वी भाषण एवं प्रेरक उदाहरणों के बूते प्रथम स्थान ईशा पटेल ने प्राप्त किया। ईशा ने कहा कि समाज मनुष्यता की जड़ है। और इस जड़ को जब समाजसेवा रूपी जल से सींचा जाता है तो यह और मजबूत होती है। युवाओं को अपने समाज के हर एक व्यक्ति के दुख- दर्द को दूर करने के लिए अपनी ऊर्जा को निरंतर सकारात्मक कार्यों में लगाते रहना चाहिए। वास्तव में "समाजसेवा में लगी युवा शक्ति ही राष्ट्र निर्माण का आधार होती है।" वहीं दूसरे स्थान पर रहे राजा भोज महाविद्यालय चूना भट्टी भोपाल के छात्र सचिन लोवंशी ने समाजसेवा के क्षेत्र में युवाओं द्वारा किए जा रहे कार्यों पर अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया। भाषण प्रतियोगिता में तृतीय स्थान रिज़वाना मंसूरी ने प्राप्त किया। इसी तरह "पोषण आहार एवं निरोगी जीवन में महिलाओं की भूमिका" एवं "पूर्ण साक्षर भारत" विषय पर पोस्टर बनाकर एवं नारे लिखकर कुपोषण एवं अशिक्षा  पर जंग जीतने का संदेश दिया। जिनमें   निधि रैकवार, विशाखा, पायल अहिरवार, प्लाक्षा मिश्रा एवं सुखवीर सिंह विजेता रहे।

ज्ञातव्य है कि इससे एक दिन पूर्व संस्था स्तर पर सांस्कृतिक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया था। दोनों ही दिवसों के विजेताओं को पुरस्कृत करने हेतु पुरस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर युवा अधिकारी, खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार श्री राजकुमार वर्मा,  टैगोर विश्व कला केंद्र के निदेशक श्री विनय उपाध्याय तथा विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ ब्रम्हप्रकाश पेठिया मौजूद रहे। इस अवसर पर श्री वर्मा ने व्यक्तित्व विकास के विभिन्न पहलुओं पर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि समाज के बीच जाकर एक आम आदमी के साथ सहज हो जाना व्यक्तित्व विकास की पहली निशानी है। सहजता आपके व्यक्तित्व को निखारती है। वहीं श्री विनय उपाध्याय ने एक अच्छे वक्तव्य की बारीकियों से प्रतिभागियों को अवगत कराते हुए निरंतर सीखते रहने और परिश्रम करते रहने का आह्वान किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति डॉ ब्रम्हप्रकाश पेठिया ने की । संचालन कार्यक्रम अधिकारी श्री गब्बर सिंह ने तथा आभार ज्ञापन कार्यक्रम अधिकारी एवं वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ रेखा गुप्ता ने किया। कार्यक्रमों की इस श्रंखला के सफल आयोजन हेतु बरकतउल्ला विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ के कार्यक्रम समन्वयक डॉ अनंत कुमार सक्सेना तथा श्री राहुल सिंह परिहार ने सभी स्वयंसेवकों को बधाई दी।