पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
1.7k
0
0

राहुल एक फेल स्टूडेंट है, जो पीएम जैसे टॉपर स्टूडेंट से चिढ़ते हैं- जेटली

Highlights

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी बीच अमेरिका से इलाज करवा कर लौटे केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। जेटली ने अपने ब्लॉग में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को क्लास का फेल स्टूडेंट बताया है। जेटली ने कहा कि जिस तरह फेल स्टूडेंट टॉपर स्टूडेंट से चिढ़ते हैं, ठीक उसी प्रकार राहुल भी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चिढ़ते हैं। इसके साथ ही जेटली ने राफेल, गौ हत्या, ईवीएम, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जैसे अहम मुद्दों पर भी लिखा।

जेटली ने अंग्रेजी अखबार द्वारा राफेल को लेकर किए गए खुलासों को झूठा बताते हुए कहा कि राफेल सौदे ने न केवल भारतीय वायु सेना की युद्ध क्षमता को मजबूत किया है, बल्कि सरकारी खजाने के हजारों करोड़ रुपये भी बचाए हैं। जब इसको लेकर कांग्रेस द्वारा फैलाया गया झूठ कामयाब नहीं हुआ, तो उन्होंने झूठ को साबित करने के लिए एक हाफ डॉक्यूमेंट तैयार किया। हालांकि इस आधे रिपोर्ट को तैयार करने वाले लोगों को शायद यह नहीं पता था कि इस डॉक्यूमेंट को बनाने की कीमत उन्हें विश्वसनीयता का नुकसान करवा कर चुकाना पड़ेगा।

जेटली ने लिखा कि राहुल गांधी ने इस रिपोर्ट का हवाला देकर राफेल पर जो दो बयान दिए, वह पीएम मोदी से नफरत के कारण दिए। जेटली ने लिखा, जिस प्रकार विफल होने वाला छात्र, क्लास में सफल होने वाले छात्र से नफरत करता है। ठीक उसी प्रकार राहुल भी पीएम से नफरत करते हैं और कुछ भी बयान दिए जा रहे हैं। जेटली ने राहुल पर संसद को नुकसान पहुंचाने का भी आरोप लगाया। जेटली ने कहा, इतिहास में यह लिखा जाएगा कि पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के ग्रेट ग्रैंडसन ने अकेले ही भारत के संसद को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया है।

जेटली ने लिखा, कांग्रेस के दोहरेपन का पता इसी बात से लगाया जा सकता है कि केरल में वह कैमरे के सामने गौ हत्या करते हैं। वहीं मध्यप्रदेश और दूसरे राज्यों में गाय काटने वालों पर केस दर्ज कर देते हैं। जेटली ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि कुछ लोग अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर बोलते रहते हैं। एकतरफ तो वह ऐसा नहीं होने का आरोप लगाते हैं और दूसरी तरफ बीजेपी के लोगों को वहां उतरने नहीं देते। रैली को रोक दिया जाता है और रैली में शामिल हुए लोगों पर हमला किया जाता है। बंगाल का लोकतंत्र खतरे में है। 

जेटली ने लिखा कि GST को लेकर फैलाया गया झूठ ज्यादा दिनों तक नहीं चल सका, क्योंकि यह लोगों के लिए मददगार साबित हुआ। इससे सामानों के टैक्स में कटौती हुई और लोगों के लिए काफी उपयोगी साबित हुई। जेटली ने लिखा कि जिस पार्टी ने 2008-2014 के बीच देश की भोली-भाली जनता को लूटा है, वह यह बता रहे हैं कि हमने इंडस्ट्रियल लोन माफ किया है। यह बिलकुल झूठ और बेबुनियाद है। हमने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में शामिल क्रिश्चेन मिशेल समेत तीन आरोपियों को भारत वापस लाया। इससे कांग्रेस का झूठ सामने आया है।

विपक्षी पार्टियां लगातार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) पर आरोप लगा रही हैं और बैलेट पेपर द्वारा चुनाव करवाए जाने की मांग कर रही है। जेटली ने इसे पूरी तरह से खारिज करते हुए चुनाव आयोग (EC) पर हमला बताया है। जेटली ने लिखा सरकार चुनाव आयोग से एक हाथ की दूरी बनाए हुए है। EVM की शुरुआत तब की गई थी जब बीजेपी सत्ता के आसपास भी नहीं थी। कई पार्टियों ने EVM के माध्यम से चुनाव जीते और हारे हैं। बिना किसी सबूत के EVM पर हमला किया जा रहा है। जेटली ने लंदन में EVM हैक को लेकर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस का हवाला देते हुए कहा कि एक आदमी अचानक से प्रकट होता है और 2014 में EVM हैक होने की जानकारी देता है। सभी लोग कांग्रेस की इस धोखाधड़ी के बारे में  जान गए हैं।

जेटली ने कांग्रेस पर छत्तीसगढ़ चुनाव में माओवादियों के साथ गठबंधन करने और कोर्ट में नक्सलियों का समर्थन करने का भी आरोप लगाया। जेटली ने कहा कि राहुल गांधी जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में 'टुकड़े टुकड़े' गिरोह के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े थे। इसके बाद भी वह भारत और भारतीय संस्थानों के साथ खड़े होने का झूठा दावा करते हैं।