पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
4.2k
0
0

बेल्जियम ने जीता हॉकी वर्ल्डकप, इतिहास में पहली बार सडन डेथ में आया नतीजा

Highlights

डिजिटल डेस्क, भुवनेश्वर। बेल्जियम की टीम ने हॉकी वर्ल्डकप 2018 जीत लिया है। ओडिशा के कलिंगा स्टेडियम में खेले गए फाइनल मैच में बेल्जियम ने नीदरलैंड को शूटआउट में 3-2 से हरा दिया। रविवार को खेले गए इस रोमांचक मैच में दोनों हाफ गोलरहित खत्म हुए। जिसके बाद यह मुकाबला शूटआउट में चला गया, जिसमें बेल्जियम ने बाजी मारते हुए  पहली बार हॉकी वर्ल्डकप का खिताब अपने नाम कर लिया। 

पहले हाफ में दोनों ही टीमों ने पॉजिटीव शुरुआत की। दोनों टीमों के बीच काफी कड़ी टक्कर देखने को मिली। पहले हाफ के पहले क्वार्टर में दोनों टीम ने एक दूसरे के गोल पर कई मौके बनाए, हालांकि दोनों ही गोल करने में नाकाम रहे। बॉल पजेशन की बात करें तो पहले हाफ में दोनों ही टीमों के पास 50-50 प्रतिशत बॉल पजेशन रहा। दूसरे क्वार्टर के 15वें मिनट में नीदरलैंड ने पेनल्टी कॉर्नर के लिए रेफरल मांगा। हालांकि वह इस कॉर्नर को गोल में तब्दील करने में नाकाम रहे। इस तरह पहले हाफ में स्कोर गोलरहित समाप्त हुआ।

दूसरे हाफ में भी दोनों ही टीमों ने एक दूसरे के गोल पोस्ट पर अटैक जारी रखा। दूसरे हाफ के तीसरे क्वार्टर के आखिरी मिनटों में नीदरलैंड के पास गोल करने का शानदार मौका मिला, लेकिन वह चूक गए। इस तरह दोनों हाफ गोलरहित रहा। हॉकी विश्व कप के इतिहास में ऐसा पहली बार था जब फाइनल टाई हुआ। इसके बाद दोनों ही टीमों के बीच पेनल्टी शूटआउट मुकाबला हुआ। 

पेनल्टी शूटआउट में नीदरलैंड की तरफ से पहला शॉट जेरोन हर्ट्सबर्गर ने लिया और राइट-लेफ्ट करते हुए गोलकीपर को गिरने पर मजबूर किया और आसान गोल दागा। वहीं बेल्जियम का पहला शॉट लेने आए अर्थर वैन गोल से चूक गए। इसके बाद दोनों ही टीमों ने पेनल्टी में 2-2 गोल दागे और मुकाबला सडन डेथ में चला गया, जिसका मतलब था गोल बचाओ और वर्ल्डकप जीतो। जिसमें पहला शॉट बेल्जियम ने लिया और गोल दागा। वहीं दूसरा शॉट लेने आया नीदरलैंड का खिलाड़ी गोल नहीं कर पाया और इस तरह बेल्जियम ने वर्ल्डकप जीत लिया।

इस रोमांचक मुकाबले में बेल्जियम की तरफ से विनसेंट वनाश को मैन ऑफ द मैच से नावाजा गया। वहीं भारत के कप्तान मनप्रीत सिंह को बेस्ट सेलिब्रेशन अवार्ड से नवाजा गया। प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट अर्थर वन डोरेन को चुना गया। बेस्ट गोलकीपर का अवार्ड नीदरलैंड के गोलकीपर पिरमिन बलाक को मिला। इसके अलावा गोल स्कोरर ऑफ द टूर्नामेंट बेल्जियम के हैंड्रिक्स और ऑस्ट्रेलिया के बलाक गोवर्स को दिया गया।