पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
4.6k
0
0

राफेल टेप: गोवा कांग्रेस का राष्ट्रपति को खत, लिखा- सीएम पर्रिकर की जान को है खतरा

Highlights

डिजिटल डेस्क, पणजी। कांग्रेस ने मोदी सरकार में पूर्व रक्षामंत्री रहे और वर्तमान गोवा सीएम मनोहर पर्रिकर की जान को खतरा बताकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने शनिवार को राष्ट्रपति के नाम एक खत में इशारों ही इशारों में पीएम मोदी को मनोहर पर्रिकर की जान का दुश्मन बताया है। गौरतलब है कि राफेल सौदे से जुड़ी एक ऑडियो टेप लीक होने के बाद से कांग्रेस पार्टी, मोदी सरकार पर और ज्यादा आक्रामक हो गई है। बुधवार को यह टेप मीडिया में सामने आई थी, जिसमें कहा जा रहा है कि राफेल सौदे से जुड़े सभी खूफिया दस्तावेज मनोहर पर्रिकर के घर पर रखे हैं। कांग्रेस ने इस ऑडियो टेप को लेकर बुधवार को संसद के अंदर और बाहर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा था। अब कांग्रेस ने एक और कदम आगे बढ़ाते हुए राष्ट्रपति को खत लिखा है और सीएम पर्रिकर की सुरक्षा बढ़ाने की अपील की है।

गोवा प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष गिरीश चोदानकर ने राष्ट्रपति के नाम खत में लिखा है, 'आपको राफेल सौदे से जुड़ी ऑडियो टेप के बारे में तो जानकारी होगी। इस टेप में गोवा के स्वास्थ्य मंत्री और एक पत्रकार के बीच फोन पर की गई बातचीत है, जिसमें कहा जा रहा है कि राफेल सौदे से जुड़ी सभी फाइलें मनोहर पर्रिकर के घर पर रखी हैं। ऐसे में जो लोग चाहते हैं कि राफेल डील की जानकारी सार्वजनिक न हो पाए और इस सौदे में हुआ भ्रष्टाचार सबके सामने न आ पाए, वे इन खूफिया दस्तावेजों को मनोहर पर्रिकर से छीनना चाहेंगे। ये लोग पर्रिकर की जान को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।'

गिरीश लिखते हैं, 'मैं कांग्रेस पार्टी और सभी गोवावासियों की ओर से आपसे निवेदन करता हूं कि सीएम पर्रिकर की सुरक्षा बढ़ाई जाए, ताकि वे बिना भय के राफेल सौदे का सच देशवासियों के सामने लाएं।'

ऑडियो टेप में कथित रूप से गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत पी. राणे, एक पत्रकार से बातचीत करते हुए कह रहे हैं कि गोवा सीएम और राफेल सौदे के दौरान केन्द्र की बीजेपी सरकार में रक्षामंत्री रहे मनोहर पर्रीकर ने एक कैबिनेट बैठक में दावा किया था कि उनके घर में राफेल डील के राज से जुड़ी सभी फाइलें मौजूद हैं।

बता दें कि राफेल सौदे को लेकर कांग्रेस पीएम मोदी पर सीधे निशाना साधती रही है। कांग्रेस का कहना है कि पीएम मोदी ने फ्रांस जाकर पूरी राफेल डील को बदल दिया। कांग्रेस पीएम मोदी पर यह भी आरोप लगाती रही है कि अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए पीएम मोदी ने HAL की बजाय रिलायंस कंपनी को फ्रेंच हथियार निर्माण कंपनी डसॉल्ट का ऑफसीज़ पार्टनर चुना।