पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
4.6k
0
0

Death anniversary: कमाल के निर्देशक थे कमाल अमरोही, बॉलीवुड में मशहूर है इनकी अनोखी लव स्टोरी

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। निर्देशक कमाल अमरोही बॉलीवुड इंडस्ट्री का जाना माना नाम हैं। बॉलीवुड में जितने वे अपने निर्देशन के लिए जाने जाते हैं, उससे ज्यादा उन्हें उनकी लव स्टोरी के लिए जाना जाता है। कमाल अमरोही और मीना कुमारी की लव स्टोरी, बॉलीवुड की ​चर्चित लवस्टोरी में से एक है। कमाल ने अपने कॅरियर में सिर्फ पांच फिल्मों का निर्देशन किया। इतना ही नहीं, उन्होंने ​सुपरहिट फिल्म मुगल-ए-आजम के भी डॉयलाग लिखे थे।

कमाल का जन्म 17 जनवरी 1918 को यूपी के अमरोहा में हुआ था। वे अपने सख्त मिजाज के लिए जाने जाते थे, इसलिए मीना कुमारी कभी भी उनके साथ काम नहीं करना चाहती थी। पिता के दबाव के चलते मीना कुमारी को कमाल के साथ फिल्म करने के लिए राजी होना पड़ा। फिल्म तो नहीं बन सकी, लेकिन मीना कुमारी की अदाकारी ने कमाल को अपना दीवाना बना लिया। वे उनसे ​इतने प्रभावित ​हुए कि अपनी हर फिल्म में वे उन्हें लेना चाहते थे। मीना कुमारी के प्यार में दीवाने कमाल ने जब उनके सामने प्यार का प्रस्ताव रखा तो मीना कुमारी ने उसे स्वीकार किया। 

इन दोनों के लिए भी प्यार की डगर आसान नहीं थी, क्योंकि कमाल पहले से शादीशुदा थे। दिनों दिन इनका प्यार गहरा होता जा रहा था, जिसके चलते दोनों के लिए रहना मुश्किल हो रहा था। मीना कुमारी के पिता भी इस शादी के सख्त खिलाफ थे। इसके बाद कमाल के एक दोस्त ने मीना कुमारी को समझाया कि वे शादी कर लें, उसके बाद सही समय देखकर घर वालों को राजी कर लें। फिर क्या... 14 फरवरी यानी वैलेंटाइन डे के दिन 1952 में दोनों ने शादी कर ली। 

उनकी शादी की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। दरअसल, उस समय मीना कुमारी की फीजियोथैरेपी चल रही थी। उनके पिता उन्हें रोज सुबह 8 बजे डाक्टर के ​क्लीनिक में छोड़ देते थे और 10 बजे लेने चले जाते थे। बस इसी दो घंटे के दौरान दोनों ने शादी कर ली। इन दोनों की शादी को इनके घर वालों ने कभी स्वीकार नहीं किया। तंग आकर कमाल ने मीना को खत​ लिखा कि वे इस शादी को हादसा मान लें। इस खत के जवाब में मीना ने कहा ​कि वे उन्हें कभी समझ ही नहीं पाएं, न आगे समझ पाएंगे, अच्छा होगा कि वे उन्हें तलाक दे दें। 

तलाक का एक कारण यह भी माना जाता है कि कमाल, मीना कुमारी की शोहरत देखकर डरने लगे थे और उनके रिश्तों में खटास आने लगी ​थी। इसके बाद 31 मार्च 1972 को मीना कुमारी ने दुनिया को अलविदा कहा और 11 फरवरी, 1993 में कमाल अमरोही भी इस दुनिया से चल बसे।