जनादेश 2019 देश विदेश मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स IPL धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
1.2k
0
0

गिरफ्तार हो सकता है नीरव मोदी, लंदन की अदालत में पहुंचा प्रत्यर्पण का केस

Highlights

डिजिटल डेस्क, लंदन। पंजाब नेशनल बैंक के साथ हजारों करोड़ रुपए का फर्जीवाड़ा करने के बाद लंदन जा बैठे भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर शिकंजा कंसता दिखाई दे रहा है। ब्रिटेन के गृहमंत्री साजिद जाविद ने नीरव के प्रत्यर्पण के लिए लगाई गई भारत की अर्जी को प्रणामित किया है। शनिवार को प्रत्यर्पण मामले से जुड़े अफसरों ने इस बात की पुष्टि की है। 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत से फरार नीरव मोदी लंदन की सड़कों पर खुलेआम घूम रहा है। वह महंगे फ्लैट में रहता है और उसने लंदन में भी हीरे का कारोबार शुरू कर दिया है। ब्रिटेन और भारत के बीच हुई प्रत्यर्पण संधि के मुताबिक लंदन  की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में कागजात दाखिल किए जा रहे हैं। अब अदालत के वारंट का इंतजार किया जा रहा है, उसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

गौरतलब है कि नीरव मोदी और उसका मामा मेहुल चोकसी 13,000 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में आरोपी हैं। भारत की जांच एजेंसी नीरव मोदी को तलाश रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारी नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए यूके के अधिकारियों को कई रिमाइंडर भेज चुके हैं, लेकिन लंदन के अधिकारियों ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने नीरव मोदी की 147.72 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी। ED ने 15 फरवरी 2018 को पीएमएलए के प्रावधानों के तहत नीरव मोदी और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था। नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और अन्य लोगों ने पंजाब नेशनल बैंक के कुछ बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर बैंक के साथ धोखाधड़ी की थी।


भारत और विदेशों में मौजूद करोड़ों की संपत्तियां की जा चुकी हैं जब्त
जानकारी के मुताबिक अभी तक में नीरव मोदी की भारत और विदेशों में मौजूद 1,725.36 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं। इसके अलावा नीरव मोदी समूह से संबंधित 489.75 करोड़ रुपये के सोने, हीरे, बुलियन, आभूषण और अन्य कीमती सामान भी जब्त किए गए हैं। हाल ही में नीरव मोदी का महाराष्ट्र के रायगढ़ में समुद्र तट स्थित 100 करोड़ का बंगला विस्फोटक का इस्तेमाल कर ध्वस्त कर दिया गया।