पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
4.2k
0
0

13 हजार करोड़ के घोटाले के बाद 247 करोड़ के मुनाफे में पंजाब नेशनल बैंक

Highlights

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 13 हजार करोड़ की धोखाधड़ी का शिकार हुई पंजाब नेशनल बैंक ने वित्तीय वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में बेहतर नतीजे पेश किए हैं। पीएनबी को अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कुल 246.51 करोड़ का मुनाफा हुआ है। सालाना आधार पर यह 7.12% ज्यादा है। 2017 की दिसंबर तिमाही में बैंक को 230.11 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। 2018 की दिसंबर तिमाही में एनपीए की प्रोविजनिंग घटने की वजह से पीएनबी मुनाफे में आया। इससे पहले लगातार 3 तिमाही नुकसान में रहा था। पीएनबी के एमडी और सीईओ सुनील मेहता का कहना है कि बैंक के वित्तीय नतीजे पटरी पर लौटे हैं। हमने अपनी बात पूरी की है। बैंक नीरव मोदी के घोटाले से उबर चुका है।

प्रोविजनिंग में आई कमी
दिसंबर तिमाही में पीएनबी ने कुल 2,753.84 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की। जबकि सितंबर तिमाही में बैंक ने 9757.90 करोउ़ रुपये की प्रोविजनिंग की थी। वहीं, एक साल पहले की समान अवधि में बैंक की कुल प्रोविजनिंग 4466.68 करोड़ रुपये रही थी। एनपीए के लिए प्रोविजनिंग 2,996.42 रही थी।

पीएनबी ने फरवरी 2018 में बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी होने की बात का खुलासा किया था, जिसकी रकम करीब 14,000 करोड़ रुपये तक पहुंच गई थी। इसी मामले में कर्ज वसूली प्राधिकरण (डीआरटी) ने 7,000 करोड़ रुपये से अधिक के बकाए की वसूली के लिए मुख्य आरोपी और हीरा व्यापारी नीरव मोदी, उसके परिवार के सदस्यों को नोटिस भेजा था। पंजाब नेशनल बैंक ने अपने 7,029 करोड़ रुपये वसूलने के लिए जुलाई में डीआरटी से गुहार लगाई थी।

बैंक की कुल आय 2.64% घटकर 14,854.24 करोड़ रुपए रह गई। 2017 की दिसंबर तिमाही में 15,257.5 की इनकम हुई थी। नेट इंटरेस्ट इनकम 4,289 करोड़ रुपए रही है। पीएनबी के एनपीए में कमी आई है। दिसंबर तिमाही में नेट एनपीए 8.22% और ग्रॉस एनपीए 16.33% रहा है। सितंबर तिमाही में नेट एनपीए 8.90% और ग्रॉस एनपीए 17.16% था। 2017 की दिसंबर तिमाही में नेट एनपीए 7.55% और ग्रॉस एनपीए 12.11% था।