जनादेश 2019 देश विदेश मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स IPL धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
4k
0
0

शी से डरे मोदी, चीन के खिलाफ उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकलता: राहुल

Highlights

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन के अड़ंगे की वजह से आतंकी मसूद अजहर यूएन में ग्लोबल टेररिस्ट नहीं घोषित हो सका। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। राहुल गांधी का कहना है कि, पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से डरे हुए हैं, इसीलिए उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकला।

'कमजोर मोदी शी से डरे'
राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, कमजोर मोदी शी से डरे हुए हैं, उनके मुंह से एक शब्द भी नहीं निकलता जब चीन भारत के खिलाफ काम करता है। 'नोमो' की चीन कूटनीति। गुजरात में शी के साथ झूला झूले। दिल्ली में शी को गले लगाया। चीन में शी के सामने झुके।
 


दरअसल चीन ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को एक बार फिर ग्लोबल टेररिस्ट (वैश्विक आतंकवादी) की लिस्ट में शामिल होने से बचा लिया है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन मसूद अहजर के खिलाफ सबूतों के अभाव की बात कहते हुए चौथी बार अपने वीटो का प्रयोग किया। चीन ने अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देशों के प्रस्ताव को होल्ड पर रखने की बात कही। हालांकि भारत ने इस पर कड़ा ऐतराज जताया है। इसी बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक विफलता बताते हुए कहा मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिपिंग से डरते हैं।


मोदी सरकार की विफल विदेश नीति उजागर हुई- सुरजेवाला
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने लिखा, आज फिर आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई को चीन-पाक गठजोड़ ने आघात पहुंचाया है। 56 इंच की ‘Hugplomacy’ और झूला-झुलाने के खेल के बाद भी चीन-पाकिस्तान का जोड़ भारत को ‘लाल-आंख’ दिखा रहा है। एक बार फिर एक विफल मोदी सरकार की विफल विदेश नीति उजागर हुई।
 


बता दें कि इस बार भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सदस्यों को जैश-ए-मोहम्मद और मसूद अजहर की गतिविधियों का एक पूरा डोजियर सौंपा था। भारत ने पहली बार मसूद अजहर की फरवरी 2019 में सामने आई ऑडियो रिकॉर्डिंग भी सौंपी थी।

चीन के खिलाफ की जा सकती है कार्रवाई: अमेरिका
मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन के अड़ंगे से अमेरिका भी भड़क गया है। अमेरिका ने कहा साफतौर पर कह दिया है कि, चीन ने चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में अड़ंगा डाला है। चीन ऐसा कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को उसका काम करने से रोक रहा है। अमेरिका ने कहा, एक तरफ चीन दक्षिण एशिया में शांति की बात करता है और दूसरी ओर मसूद को बचाता है, ऐसा कर चीन खुद ही आतंकवाद के सफाए में बाधा बन रहा है। अमेरिका ने चेतावनी दी है कि, चीन अगर मसूद पर कार्रवाई में बाधा बनता रहा तो सुरक्षा परिषद में उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।