पुलवामा अटैक देश विदेश कुंभ 2019 मुख्य शहर राज्य राशिफल मनोरंजन बिज़नेस Gadgets ऑटोमोबाइल लाइफस्टाइल स्पोर्ट्स धर्म अजब गजब वीडियो फोटोज रेसिपी ई-पेपर
5.4k
1
0

आज विश्व कैंसर दिवस, ये है इस बार की थीम

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। हर वर्ष 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस (World Cancer Day) मनाया जाता है। विश्व कैंसर दिवस की स्थापना यूनियन फॉर इंटरनेशनल कैंसर कंट्रोल (UICC) के द्वारा की गई। जिसका मकसद लोगों को जागरूक कर, इसे होने वाली मृत्यु के आंकड़ों में कमी लाना है। कैंसर के बारे में जागरूकता लाने के लिए विश्व कैंसर दिवस को एक थीम और अभियान के साथ मनाया जाता है। इस साल कैंसर दिवस की थीम 'आई एम एंड आई विल' (I AM And I Will) है। इस थीम के अनुसार 2019 से 2021 तक कार्यक्रम होंगे। 

ये है स्थिति-
विश्व स्वास्थ्य संगठन ग्लोबोकैन की रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2018 में करीब 11 लाख नए कैंसर मरीज पाए गए हैं। वहीं पिछले पांच सालों में लगभग 5 लाख लोग कैंसर के कारण अपनी जान गंवा बैठे। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में प्रमुख तीन प्रकार के कैंसर सर्वाधिक है। इसमें मुंह, बच्चेदानी और स्तन का प्रमुख है। 

इन कारणों से होता है कैंसर-
तंबाकू के सेवन से, शराब और सिगरेट का सेवन करना, इन्फेक्शन, मोटापा, सूरज की अल्ट्रा वायलेट किरणों के कारण।

कैंसर के लक्षण-
वजन में कम होना,बुखार,हड्डियों में दर्द, खांसी, मुंह से खून आना, शरीर में किसी स्थान पर गांठ होना, महिलाओं में माहवारी का बार-बार अनियमित होना, मुंह में छाले होना। 

कैंसर की अवस्थाएं-
कैंसर की आमतौर पर चार मुख्य अवस्थाएं होती हैं। पहली और दूसरी अवस्था में कैंसर का ट्यूमर छोटा होता है। यह टिश्यूज की गहराई में नहीं फैलता है। तीसरे स्टेज में कैंसर विकसित हो जाता है। इस अवस्था में ट्यूमर बड़ा होता जाता है। शरीर के अन्य अंगों में इसके फैलने की संभावना बढ़ जाती है। चौथी और आखिरी अवस्था में कैंसर अपने शुरुआती हिस्से से अन्य अंगों में फैल जाता है। जिसे मेटास्टेटिक कैंसर कहा जाता है। 

कैंसर के प्रकार-
कैंसर कई प्रकार हैं जैसे, स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन कैंसर, बोन कैंसर, ब्लैडर कैंसर, पेंक्रियाटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, किडनी कैंसर,स्किन कैंसर, स्टमक कैंसर, थायरॉइड कैंसर, मुंह का कैंसर, गले का कैसर। 

कैंसर से जीती इन सेलेब्रिटीज ने जंग-

- युवराज सिंह :

क्रिकेट युवराज सिंह ने भी कैंसर से हार नहीं मानी। 2011 के विश्व कप में भारत को जीताने में युवराज का अहम किरदार था। युवराज गेदबाजों की तरह कैंसर की भी धुलाई कर दी। अब वह पुरी तरह स्वस्थ है। युवराज क्रिकेट के साथ अपना खुद का ब्रांड चला रहे है। साल 2016 में युवराज ने हेजल कीच से शादी की। 

- अनुराग बासु :

फिल्म डायरेक्टर अनुराग बासु भी कैंसर का सामना कर चुके है। वर्ष 2004 में उन्हें ब्लड कैंसर का पता चला था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। आज अनुराग कैंसर को हराकर पूरी तरह स्वस्थ है।

- मुमताज :

मशहूर अभिनेत्री मुमताज भी कैंसर का शिकार हो चुकी हैं। मुमताज 11 साल तक इस गंभीर बीमारी से लड़ी। 

- मनीषा कोइराला :

मन और दिल से जैसी शानदार फिल्में देने वाली अभिनेत्री मनीषा कोइराला ने भी कैंसर को मात दी है। मनीषा को ओवराइन कैंसर था। 

- लीजा रे :

अभिनेत्री लीजा रे भी कैंसर से लड़ चुकी हैं। साल 2009 में लीजा कैंसर से पीड़ित हो गई थी। हालांकि उन्होंने हार नहीं मानी और इलाज कराकर कैंसर का हरा दिया।